1

ऑड-इवन का बायकाट करने मैदान में उतरे सिरसा

उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात के बाद विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि एक साल बर्बाद करने के बाद सरकार ने फिर से ऑडइवन फार्मूला शुरू करने का फैसला किया है। इस बात की आलोचना होनी चाहिए कि जब पहली बार यह स्कीम शुरू की गई थी तो तब उबर और ओला की टैक्सियों में बड़ा विस्तार हुआ था। उन्होंने कहा कि यह कुदरती मौसम है या इन कैब सॢवसेज का व्यापार बढ़ाने के लिए कोई छिपा हुआ एजेंडा अपनाया जा रहा है, इसकी पड़ताल होनी चाहिए।

अकाली नेता ने कहा कि सरकार की पूर्ण असफलता और एक साल तक मौसम के मामले पर काम न करने के खिलाफ रोष प्रकट करने के लिए वह इस स्कीम का बायकाट करेंगे। उन्होंने हैरानी प्रकट की कि एक तरफ सरकार कैब सॢवस को उत्साहित कर रही है जबकि दूसरी तरफ शहर के टू व्हीलर चालकों और उन की सुरक्षा को अनदेखा कर रही है।

वहीं, दिल्ली में प्रदूषण के बिगड़े हालात को लेकर भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल उपराज्यपाल अनिल बैजल से मिला और एक मांग पत्र सौंपा। साथ ही जल्द कोई कदम उठाने की गुहार लगाई। मुलाकात के बाद एलजी ने दिल्ली की सड़कों पर तुरंत पानी का छिड़काव शुरू करने के आदेश जारी कर दिए। इस मौके पर भाजपा विधायकों ओम प्रकाश शर्मा, जगदीश प्रधान और मनजिंदर सिंह सिरसा ने उप राज्यपाल को बताया कि दिल्ली की जहरीली हवा ने शहर में जनजीवन को बुरी तरह प्रभावित किया है। इसके चलते न सिर्फ देश की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनामी हुई है बल्कि इस के साथ शहर में सैर सपाटा भी प्रभावित हुआ है।

उन्होंने कहा कि दिल्ली की सरकार पिछले साल ऐसे ही हालातों के मद्देनजर कड़वे तजुर्बे को देखते समय कोई कदम उठाने में असफल रही है। इसके नतीजे के तौर पर दिल्ली की जहरीली हवा के कारण लोगों की सेहत पर बहुत बरसाती प्रभाव पड़ रहा है और लोगों को सांस लेने में फेफड़ों पर प्रभाव, कैंसर रोग जैसी गंभीर बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है और खास तौर पर गर्भवती महिलाएं, सीनियर सिटीजन और बच्चे प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार तो आम जनता के लिए ऐसे हालात में क्या करें और क्या न करें, इस बारे पहला सूचना भी जारी करने में असफल रही है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *