मोदी सरकार ने संसद में गलत दावा किया

बात दो जनवरी की है. जब लोकसभा में राफेल पर बहस गर्म थी. पक्ष और विपक्ष के बीच घमासान मचा था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जब राफेल विमानों की कीमतों को लेकर जबर्दस्त तरीके से सरकार की घेराबंदी की तो बचाव करने वित्तमंत्री अरुण जेटली उतरे थे. उन्होंने बहुत आत्मविश्वास के साथ कहा था,” मैं यकीनन बिना किसी खंडन के डर से कह सकता हूं कि 2016 की तारीख में बेसिक एयरक्राफ्ट का दाम यूपीए की तुलना में नौ प्रतिशत और वेपनाइज्ड यानी हथियारों से लैस एयरक्राफ्ट का सौदा 20 प्रतिशत सस्ता है.” उस दौरान भी अरुण जेटली ने यह कहकर एयरक्राफ्ट की कीमतों का खुलासा करने से इन्कार किया था कि इससे भारत-फ्रांस के बीच इंटर गवर्नमेंटल एग्रीमेंट(आइजीए) की शर्तों का न केवल उल्लंघन होगा, बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े हित भी प्रभावित होंगे.

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *