15

भारत के लिए दिक्कतें बढ़ा सकता है उत्तर कोरिया का हाईड्रोजन बम

उत्तर कोरिया द्वारा लगातार किए जा रहे परमाणु प्रक्षेपण से पूरी दुनिया के देशों के लिए चिंता का विषय है। प्योंगयांग लगातार बारुद के अंबार पर बैठता जा रहा है जो चिंतनीय है।

इस साल उत्तर कोरिया 6 परमाणु परीक्षण कर चुका है, जिससे न केवल अमेरिका की बल्कि भारत की भी चिंता बढ़ गई है।
विशेषज्ञ मानते है कि उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार सिर्फ अमेरिका और जापान के लिए ही खतरा नहीं है बल्कि भारत के लिए भी यह सिर दर्द है और इससे भारत को भी घात पहुंच सकता है।

इस आशंका के पीछे की दलील यह है कि पाकिस्तान के बाद उत्तर कोरिया दूसरा देश है जो चीन परस्त है ऐसे में चीन के इशारों पर उत्तर कोरिया और पाकिस्तान दोनों भारत के लिए घातक साबित हो सकते है।

चीन उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण की निंदा कर चुका है, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि चीन ने पिछले कुछ वर्षों में प्योंगयांग और इस्लामाबाद दोनों को परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल हथियारों को मजबूत करने में सक्षम बनाया है।

गौरतबल है कि उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के चलते अमेरिका और जापान उसे कई बार चेतावनी दे चुके हैं, लेकिन उत्तर कोरिया ने धमकी को नजरअंदाज कर परीक्षण जारी रखा। उत्तर कोरिया अमेरिका के गुआम द्वीप को उड़ाने की धमकी भी दे चुका है।

वहीं पाकिस्तान 2,200 किमी रेंज की एमआईआरवी मिसाइल का परीक्षण कर रहा है। इसका एक टेस्ट वह इस साल जनवरी में कर चुका है। हालांकि भारत भी एमआईआरवी मिसाइल विकसित करने में लगा है। बता दें कि एमआईआरवी मिसाइल में एक साथ कई परमाणु हथियार लोड किए जा सकते हैं, जो कई टार्गेट पर निशाना साध सकती है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *