8

नोटबंदी पर बोले रघुराम राजन, भारतीय अर्थव्यवस्था को चुकानी पड़ेगी भारी कीमत

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने अपनी किताब ‘आई डू व्हाट आई डू’ को लॉन्च करने के दौरान कहा कि नोटबंदी की भारी कीमत भारतीय अर्थव्यवस्था को चुकानी पड़ सकती है।

पूर्व गवर्नर रघुराम राजन यह भी कहा कि आरबीआई ने पहले ही चिंता जताते हुए कहा था कि नोटबंदी से फायदे कम नुकसान ज्यादा होंगे। साथ ही पूर्व गवर्नर ने कहा कि जीडीपी और औपचारिक अर्थव्यवस्था दोनों को नोटबंदी से नुकसान हुआ है और इससे कालाधन रखने वालों की पहचान नहीं हो पाई है। उन्होंने कहा कि आरबीआई ने इसके लिए औपचारिक नोट भी तैयार किया था।

रघुराम राजन ने कहा कि यह कहना गलत होगा कि नोटबंदी के लिए तैयारी नहीं की गई थी, 2 हजार, पांच सौ और एक हजार के नए नोटों को मई में ही मंजूरी दे दी गई थी और इसके लिए आरबीआई ने नए नोटों की छपाई भी शुरू कर दिया था। हालांकि सभी करेंसी को एक साथ बाहर करने का प्रस्ताव अर्थशास्त्रियों को पसंद नहीं आया था।

साथ ही राजन ने बताया कि ये सच है कि नोटबंदी के लिए कोई तारीख तय नहीं की गई थी और नोटबंदी के असर को कभी भी पूरी तरह मापा नहीं जा सकता क्योंकि अभी भी हमारे पास इससे जुड़ी सभी जानकारियां नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इसकी वजह से ही जीडीपी को 1-2 फीसदी का नुकसान हो सकता है। उन्होंने कहा कि अगर मान लेते हैं कि यह नुकसान 1.5 फीसदी है तो भी 2 लाख करोड़ रुपए का नुकसान है। रघुराम राजन ने वित्त मंत्रालय और आरबीआई गवर्नर के रिश्तों पर कहा कि दोनों में अक्सर तनाव की स्थिति बनी रहती है।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *