visuddha-sr

दो महान् संतों का महामिलन – आचार्य श्री विशुद्धसागरजी के संघ से डाॅ. शिवमुनि के संत संघ का हुआ मिलन

- September 6, 2017

महावीर ने कभी पंथ नहीं बनाए: आचार्य श्री विशुद्धसागर श्वेताम्बर दिगम्बर दोनों महावीर के दूत हैं: डाॅ. शिवमुनि इन्दौर। 5 सितम्बर। बास्केटबाॅल काॅम्प्लेक्स इन्दौर में जैन परम्परा की दो धाराओं के दो आचार्यों दिगम्बर परम्परा के आचार्यश्री विशुद्धसागर जी महाराज और जैन श्वेताम्बर परम्परा के डाॅ. शिवमुनि का सोमवार दोपहर महामिलन हुआ। दोनों के संघों

Read More
1

बनावटी क्षमावाणी आपकी, स्वाभाविक सबकी

- September 6, 2017

चौकियें मत, हकीकत से ही रुबरु करा रहे हैं। कभी इस बात का गर्व न करना कि क्षमावाणी यानि मुख से क्षमा मांगना, आपका, यानि जैन सम्प्रदाय का पर्व है और इस गलतफहमी में भी मत रहना कि क्षमावाणी साल में केवल एक बार (तीन बार मनाते ही कब हो) आती है। हैरान मत होइये,

Read More
rath-2

महामस्तकाभिषेक प्रभावना रथ इन्दौर से प्रारंभ

- August 19, 2017

इन्दौर 15 अगस्त। 15 अगस्त को स्वतन्त्रता दिवस के अवसर भगवान बाहुबली महामस्तकाभिषेक प्रभावना रथ का प्रारंभ बड़ी धूमधाम व उत्साह के साथ प्रारम्भ हुआ। इसका प्रारम्भ इन्दौर के समोशरण मंदिर कंचनबाग से आचार्यश्री विशुद्धसागरजी महाराज ससंघ के सान्निध्य में विशल जन समूह के साथ प्रारम्भ होकर रवीन्द्रनाट्यगृह पहंुचा जहां विशाल सभा का रूप ले

Read More
photo-9

स्वतंत्रता का जश्न नहीं, कुर्बानियों का एहसास कीजिये – मुनि सौरभ सागर

- August 18, 2017

श्री दिगंबर जैन मंदिर कृष्णा नगर में स्वतंत्रता दिवस बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मंदिर प्रधान महेश चंद जैन एवं चातुर्मास संयोजक श्री मदनसेन जैन ने बताया कि इस अवसर पर स्थानीय महावीर महिला मंडल द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। स्थानीय बच्चों ने राष्ट्र भक्ति से ओत-प्रोत कविता, नाटक, नृत्य गीत, प्रस्तुत

Read More
photo-8

स्वतंत्र होकर भी परतंत्र – आर्यिका सरस्वती भूषण

- August 18, 2017

बिहारी कॉलोनी। स्वतंत्रता दिवस पर अपने विशेष प्रवचन में आर्यिका श्री सरस्वती भूषण माताजी ने कहा कि आज पाश्चात्य सभ्यता और संस्कृति के प्रति अंधी अनावश्यक दौड़ तथा देश से विदेश की ओर पलायन की रूचि हमें आज भी मानसिक रूप से परतन्त्रता की बेड़ियों में जकड़े हुए हैं। विदेशी भोजन, विदेशी भाषा और विदेशी

Read More
photo-7

‘कैसे जियें बुढ़ापा’ भारत गौरव मुनि पुलकसागर – ज्ञान गंगा महोत्सव में

- August 18, 2017

बचपन में ज्ञान, जवानी में ध्यान और बुढ़ापे में पुण्यार्जन करो जवानी का प्रमाण पत्र होता है बुढ़ापा तन से भले ही बूढ़े हो जाओ, लेकिन हौसला मत टूटने देना हताश होकर जीवन मत जीओ मेरे भाई वृद्धावस्था में भी कुछ न कुछ करते रहो, नहीं तो जीवन में जंग लग जाएगी हाय-हाय के जीवन

Read More
photo-6

भगवान बाहुबली मूर्ति निर्माता वीर चामुण्डाराय सत्य युधिष्ठिर कहलाते थे

- August 18, 2017

श्रवणबेलगोला में विश्व प्रसिद्ध भगवान बाहुबली की विशाल एवं भव्य मूर्ति बनवाने वाले महापुरुष चामुण्डाराय गंगवंशी राजा राचमल्ल के मंत्री एवं प्रधान सेनापति थे। गंगवंश के राजाओं ने मैसूर व आसपास के प्रदेशों पर लगभग एक हजार वर्ष तक शासन किया तथा जैन धर्म के प्रचार-प्रसार के साथ ही अनेक जैन मंदिरों का निर्माण भी

Read More
photo-5

आ. शांतिसागरजी स्वतंत्रता सेनानी भी थे

- August 18, 2017

आचार्य श्री शांतिसागर जी महाराज का कद 6 फुट, 2 इंच था, दिल्ली की घटना है, महाराज जी सुबह जंगल में जाते थे, तो दस लोग उनके साथ चलते। एक दिन पंडित जगनमोहन लाल शास्त्री वहां पहुंच गए और उन्होंने कुछ ऐसी बात देखी, जो महाराज श्री से कह दी। उन्होंने कहा महाराज जी ये

Read More
photo-4

समर्थता के बाहर जाकर चाह करना दु:ख का कारण- मुनि श्री सुधासागर

- August 18, 2017

मदनगंज-किशनगढ़। मुनि पुंगव सुधासागर महाराज ने कहा कि व्यक्ति अपनी स्वयं की जिंदगी में कुछ वो करना चाहता है और वो पाना चाहता है, जो उसके सामर्थ्य के बाहर है, व्यक्ति का यह सबसे बड़ा वीक प्वाइंट है। व्यक्ति इतना खाना चाहता है जो पाचन शक्ति से बाहर है और प्रकृति कहती है कि तुम

Read More